Paavan Logo
Spiritual Books in Hindi
Share on whatsapp
Share on facebook
Share on telegram
Share on linkedin
Share on twitter

10 आवश्यक आध्यात्मिक किताबें जो सिखाएंगी जीवन जीने का सही तरीका           

हमारे देश में आज भी ऐसे कई लोग हैं जो वीडियो या ऑनलाइन माध्यम के बदले किताबें पढ़ना ज़्यादा पसंद करते है। आध्यात्मिक विकास के लिए भी इन लोगों को हमेशा कुछ अच्छी आध्यात्मिक पुस्तकें (spiritual books in hindi) चाहिए होती है जो उन्हें अच्छा जीवन जीने के लिए प्रेरित करें और उन्हें जीवन में आने वाली मुसीबतों से लड़ने की ताकत और प्रेरणा दे। ऐसे कई उपन्यास और धार्मिक ग्रंथ हैं जिसे हमें अपने जीवन में कम से कम एक बार तो जरुर पढ़ना चाहिए।

आज के डिजिटल जमाने में इन spiritual books in hindi को ख़रीदना भी ज़रूरी नहीं, उनका ऑनलाइन या PDF वर्ज़न भी आसानी से ऑनलाइन मिल जाते है। आज के इस लेख में हम आपको कुछ खास आध्यात्मिक पुस्तकों के बारे में बताने वाले हैं, तो चलिए शुरू करते हैं।

 

10 आध्यात्मिक पुस्तकें (Best Spiritual Books In Hindi)

आज हम जानेंगे कुछ सबसे प्रचलित आध्यात्मिक किताबों (adhyatmik books) के बारे में जो हर मनुष्य को स्वयं को पहचानने में और जीवन का असली सार जानने में सहयोग कर सकते हैं।

1) श्रीमद भगवत गीता (Shrimad Bhagavad Gita)

spiritual books in Hindi - Shrimad Bhagavad Gita

हिन्दू धर्म में कई पवित्र ग्रंथ और आध्यात्मिक किताबें (spiritual books in hindi) हैं जिनमें से सबसे महत्वपूर्ण  है श्रीमद भगवत गीता जो महाभारत का एक प्रमुख अंश है। इस ग्रन्थ का जन्म कुरुक्षेत्र में चल रहे महाभारत के युद्ध में उस समय हुआ जब अर्जुन अपने सामने अपने ही परिजनों को देखकर व्याकुल हो उठे थे और इस युद्ध से पीछे हटने की बात कर रहे थे। तब अर्जुन को उनके कर्तव्य का अहसास दिलाने के लिए श्री कृष्ण अपने विराट स्वरुप में आए और उनको गीता का ज्ञान दिया और समझाया कि व्यक्ति का कर्तव्य निभाना कितना महत्वपूर्ण है।

ये ग्रन्थ सिर्फ प्राचीनकाल में ही नहीं बल्कि वर्तमान में भी राह दिखाने वाला ग्रन्थ है। ऐसा माना जाता है कि व्यक्ति को अपने हर सवाल का जवाब भागवत गीता में मिल जाएगा। महर्षि वेद व्यास ने इस महान ग्रन्थ को पहली सहस्राब्दी ईसा पूर्व में संस्कृत भाषा में लिखा था। ऐसा माना जाता है कि वेद व्यास जी बोल रहे थे और श्री गणेश जी उसे लिख रहे थे।

ये ग्रंथ हमें यह बताता है कि कभी कभी हमारे सामने भी ऐसी समस्या खड़ी हो जाती है, जहाँ हमें समझ नही आता कि क्या करें और उस समय हमारा मन उस समस्या से भागने को करता है लेकिन गीता के अनुसार अगर व्यक्ति बिना डरे समस्या से छुटकारा पाने का प्रयास करे तो वो निश्चय ही अपनी परेशानियों का समाधान ढूंढ लेगा। कर्म ही व्यक्ति का धर्म है और अपना धर्म निभाकर ही परेशानियों को दूर किया जा सकता है।

गीता प्रेस, गोरखपुर ने गीता को भाष्य और उनके अर्थ के साथ प्रकाशित किया है। गीता में कुल 18 अध्याय और 700 श्लोक हैं और इन सभी अध्याय में कृष्ण जी द्वारा बोले गए श्लोक और उनका अर्थ प्रकाशित है।

लेखक – महर्षि वेदव्यास

प्रकाशक – गीता प्रेस, गोरखपुर

भाषा – वेदव्यास जी ने इसे संस्कृत में लिखा था जिसका हिंदी, अंग्रेजी सहित कई भाषाओं में अनुवाद किया गया।

 

ऐसा और ज्ञान पाना चाहते हैं? यह भी पढ़ें फिर:

रामायण कितने प्रकार की है? जाने 5 सबसे प्रमुख रामायण को विस्तार में।

9 Powerful Bhagwat Geeta Shlok In Hindi With Meaning

 

2) महाभारत (Mahabharata)

spiritual books in Hindi - Mahabharata

आध्यात्मिक किताबों (spiritual books in hindi) की श्रृंखला में और हिन्दू धर्म के साहित्य में महाभारत का एक महत्वपूर्ण और विशिष्ट स्थान है। इस ग्रन्थ में भारतीय संस्कृति और हिन्दू धर्म का सजीव चित्रण किया गया है तथा यह ग्रन्थ सत्य और धर्म की विशिष्टता को दर्शाता है।

इस ग्रंथ में धर्म और अधर्म दोनों के बारे में विस्तार से बताया गया है। विदुर, द्रोणाचार्य, भीष्म पितामह जैसे महावीर जो धर्म का महत्व जानते थे लेकिन फिर भी राज्य के प्रति अपनी वफादारी के चलते दुर्योधन की तरफ से लड़े और उनका भी दुर्योधन की तरह विनाश हो गया। इस ग्रन्थ में उस पल का भी उल्लेख है जब भीष्म पितामह मृत्यु शय्या में लेटे हुए थे और अपने प्रिय युधिष्ठिर और अन्य पांडवो को वर्ण धर्म, कर नीति, दान धर्म, आश्रम धर्म, मोक्ष धर्म आदि के बारे में उपदेश दे रहे थे। आध्यात्मिक किताबों (adhyatmik books in hindi) के इस महत्वपूर्ण लेख को हर मनुष्य को एक बार ज़रूर पढना चाहिए।

लेखक – महर्षि वेदव्यास

प्रकाशक – पेंगुइन बुक्स इंडिया

भाषा – मूल रूप से महाभारत संस्कृत में लिखी गयी जिसका हिंदी और अंग्रेजी में अनुवाद किया गया।

आध्यात्मिक किताबों (Spiritual books in hindi) की श्रृंखला में अगली और सबसे महत्वपूर्ण पुस्तक है रामायण। आइए रामायण के बारे में विस्तार से जानें।

 

3) रामायण (Ramayana)

spiritual books in Hindi - Ramayana

महाभारत अगर दो भाइयों और उनके परिवार के नज़रिए में अंतर और मतभेदों के कारण हुए धर्म युद्ध के ऊपर आधारित है तो दूसरी तरफ़ रामायण भाइयों के बीच असीम प्रेम और स्नेह के ऊपर लिखा गया है। महाभारत में भाई एक दूसरे से राज्य और सिंहासन के लिए लड़ रहे थे और रामायण में भाई एक दूसरे के प्रति समर्पित थे और एक दूसरे को राजा बनता हुआ देखना चाहते थे। रामायण मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के जीवन, उनके संघर्षों और उनके आदर्शों का सजीव चित्रण है।

श्री राम ने अपनी माता कैकयी और पिता दशरथ के एक बार कहने पर राज्य छोडकर वनवास जाना स्वीकार कर लिया और इतना ही नहीं वन में रावण के द्वारा सीता माता के हरण के बाद भगवान श्री राम ने अपनी पत्नी को लंकापति रावण से युद्ध लड़कर छुड़ा लिया। इस युद्ध में उनका साथ सुग्रीव की वानर सेना और श्री राम के परमभक्त हनुमान जी ने दिया।

ये ग्रंथ हमें हमेशा सत्य और धर्म पर चलने और अपने माता पिता और भाई बहनों के प्रति असीम प्रेम और स्नेह रखने की प्रेरणा देता है। यह ग्रंथ ये भी सिखाता है कि यदि व्यक्ति के पास धन दौलत है और ताकत है तो उसे उसका घमंड नहीं करना चाहिए और अहम में आकर किसी पर अत्याचार नहीं करना चाहिए।

इस ग्रंथ में जितने भी चरित्र है वो सभी अपने कर्तव्यों का बखूबी पालन करते हैं। इससे ये भी सीख मिलती है कि समस्या कितनी भी बढ़ी हो, अगर उसे सच्चाई से और ईमानदारी से दूर करने की कोशिश की जाए तो उस समस्या को हल किया जा सकता है। रामायण जैसी आध्यात्मिक किताबें (spiritual books in hindi) हमें जीवन को सही तरीके से जीने का रास्ता दिखाती है।

लेखक – ऋषि वाल्मीकि

प्रकाशक –  मनोज पब्लिकेशन एडिटोरियल बोर्ड 

भाषा – मूल रूप से संस्कृत में लिखी गई और फिर इसे हिंदी और अंग्रेजी में अनुवादित किया गया।

 

4) योगी कथामृत (Yogi Kathaamrit)

spiritual books in Hindi - Yogi Kathaamrt

योगी कथामृत परमहंस योगानन्द की आध्यात्मिक किताब (spiritual books in hindi) और आत्मकथा है जिसे उन्होंने स्वयं लिखा है। ये एक आध्यात्मिक पुस्तक है जिसने सालों से लोगों के मन में एक विशेष स्थान बनाया हुआ है। इसमें भारत में प्राचीन काल से चले आ रहे योग विज्ञान का उल्लेख होने के साथ साथ आत्म-साक्षात्कार की विभिन्न और प्रभावकारी वैज्ञानिक पद्धतियों का वर्णन है। ये पुस्तक भारत द्वारा विश्व सभ्यता को दी गई अमूल्य देन है, यही कारण है कि इस पुस्तक को शताब्दी की सर्वश्रेष्ठ पुस्तक का सम्मान भी मिल चुका है।

इस पुस्तक में समझाया गया है कि किस तरह व्यक्ति ध्यान से अपना जीवन बदल सकता है। उन्होंने बताया कि व्यक्ति अगर चिंता न करके चिन्तन, मनन और ध्यान करे तो व्यक्ति अपने व्यस्ततम जीवन और भीड़ भाड़ में भी अपनी सभी इन्द्रियों को नियंत्रित करते हुए अपना काम बखूबी कर सकता है। इससे व्यक्ति पर मन का प्रभाव नहीं बल्कि मन पर व्यक्ति का नियंत्रण होगा और वह अपनी जरुरत के अनुसार मन को मना सकता है।

जिनका मन बेकाबू रहता है और भटकता रहता है उन्हें अपने मन को स्थिर और एकाग्र करने के तरीकों को सीखने के लिए इस पुस्तक को जरुर पढना चाहिए। इसमें बताया गया है कि बिना ध्यान भटकाए अपना काम बखूबी करने के लिए क्या तकनीक अपनानी चाहिए। आध्यात्मिक किताबें (best spiritual books in hindi) पढने वालों की लिस्ट में ये पुस्तक अवश्य होनी चाहिए ताकि सभी इन्द्रियों को काबू में रखना सीख पाए।

लेखक – परमहंस योगानन्द

प्रकाशक – डायमंड पॉकेट बुक्स प्रा लिमिटेड

भाषा – हिंदी

 

5) इनर इंजीनियरिंग – आनंदमय जीवन का सूत्र

spiritual books in Hindi - Inner Engineering: A Yogi's Guide to Joy

सद्गुरु जग्गी वासुदेव ने कई आध्यात्मिक किताबें (spiritual books in hindi) लिखीं हैं, जिसमें इस पुस्तक का विशेष महत्व है। सद्गुरु लेखक होने के साथ साथ प्रसिद्ध योग गुरु हैं और ओशो फाउंडेशन के कर्ता धर्ता भी हैं। ओशो फाउंडेशन ने अब तक कई लोगों की ज़िन्दगी बदली है तथा जब भी कोई सद्गुरु के विचारों को सुनता और समझता है वो सुनता ही रह जाता है। इस अध्यात्मिक (spiritual books in hindi) पुस्तक में लोगों को अन्दर से आनंदमयी होकर जीने का तरीका बताया है।

उन्होंने बताया है कि कैसे व्यक्ति अध्यात्म को अपनाकर आंतरिक बुद्धिमत्ता को उच्च स्तर तक ले जा सकता है। आज कल के तनाव भरे माहौल में अपने चित्त को शांत करने और एक सुखी जीवन जीने की राह दिखाने का सर्वोतम उपाय ये आध्यात्मिक किताब है।

ऐसा माना जाता है जो व्यक्ति इनर इंजीनियरिंग पुस्तक को आत्मसात कर लेता है उसे जीवन का सही मार्ग अवश्य मिल जाता है। इसमें बताए गए रास्तों पर चलकर आप अपने रोज के काम को और भी बेहतरीन ढंग से कर सकते है। कहते हैं ना जिसने अपने आप को पा लिया उसने जग पा लिया। इस पुस्तक को पढकर आप अपने दिमाग और शरीर पर काबू पा लेंगे और आपका जीवन तनाव से दूर और आनंदमय हो जाएगा। spiritual books in hindi आपको जीवन जीने का सलीका सिखाएगी।

लेखक – सद्गुरु

प्रकाशकपेंगुइन बुक्स स्पीगल और ग्राउ

भाषा – हिंदी और अंग्रेजी

 

Download Paavan App

 

6) जीवन के अद्भुत रहस्य (Life’s Amazing Secrets)

आध्यात्मिक किताबें - Jeevan Ke Adbhut Rahasya

गोपाल दास जी आध्यात्मिक गुरु हैं और वो अपनी पुस्तक के जरिए लोगों को जीवन जीने का सही तरीका समझा रहे हैं ताकि व्यक्ति का जीवन स्तर सुधर जाए। उनके अनुसार व्यक्ति के जीवन में कई उतार चढाव आते रहते हैं ऐसे में यदि व्यक्ति अपने जीवन में संतुलन करना सीख जाए तो वो अपने सभी कर्मों को अच्छे से और आसानी से पूरा कर पाएगा।

इस पुस्तक का प्रकाशन पेंगुइन बुक्स ने किया तथा यह पुस्तक अंग्रेजी बुक ‘Life’s Amazing Secrets’ का हिंदी रूपांतरण है। इस पुस्तक को लोगों का बहुत प्यार मिला है तथा इसकी अब तक लाखों प्रतियाँ बिक चुकी हैं।

ये धार्मिक पुस्तक (spiritual books in hindi) गोपाल दास जी और उनके मित्र हैरी के बीच जीवन के बारे में हुई चर्चा पर आधारित है। उनके अनुसार जीवन को स्वर्ग बनाना है तो जीवन को संतुलित करना सीखना होगा। जब इस पुस्तक को पढना शुरू करते है तो मानो ऐसा लगता है कि हम कोई यात्रा कर रहे हैं और इस सफ़र में हम अपने आपको समझ रहे हैं।

उनका कहना है कि अगर व्यक्ति सकरात्मता को जीवन में उतारकर अपना जीवन जिये तो उसका नजरिया स्पष्ट हो जाएगा और वो उसकी राह में आने वाली हर मुश्किल का सही तरीके से सामना कर पाएगा। उन्होंने कहा है कि नकारात्मकता को अपने जीवन में कोई स्थान न देना ही समझदारी है।

उनका यह भी कहना है कि रिश्तों को मजबूत करना भी बहुत जरूरी है, इस बारे में वो कहते हैं कि जिस तरह एक पौधे को सही देखभाल मिलने पर ही वो खिलता है और फूल देता है उसी प्रकार रिश्तों को भी प्यार और देखभाल की जरुरत होती है। आध्यात्मिक किताबें (spiritual books in hindi) पढने वालों को इस पुस्तक से बहुत कुछ सीखने को मिलेगा।

लेखक – गौर गोपाल दास जी

प्रकाशक – पेंगुइन बुक्स

भाषा- मूल रूप से इसे अंग्रेजी में लिखा गया था जिसका बाद में हिंदी रूपांतरण किया गया

 

7) असीम आनंद की ओर (Aseem Anand ki Aur)

आध्यात्मिक पुस्तकें - Aseem Anand ki Aur

आज के समय में जो आध्यात्मिक किताबें (spiritual books in hindi) पढ़ी जानी चाहिए उसमें से एक है असीम आनंद की ओर। इस किताब में वो बता रही हैं कि संसार में आज जो भी परेशानियाँ और दुःख है वो निर्भरता के कारण है।

इंसान को अपने जीवन में अगर किसी को अपनाना है तो उसे उसी रूप में स्वीकार करे जो वो वास्तव में है। व्यक्ति हर किसी को परखने और बदलने की कोशिश में लगा रहता है, जो सही नहीं है। व्यक्ति चीजों को व्यवस्थित करने में अपने सुख चैन को गवां बैठता है।

व्यक्ति को अपने दायित्व को समझना चाहिए। ये पुस्तक बताती है कि व्यक्ति काम में सफलता चाहता है, रिश्तों में सफलता चाहता है और जीवन में ऐशो आराम के लिए वस्तुएं खरीद कर आरामदायक जीवन चाहता है यानि कुल मिलाकर वो हर चीज और काम से ख़ुशी चाहता है। लेकिन व्यक्ति की सच्ची ख़ुशी किस चीज में है ये आपको इस पुस्तक को पढकर ही पता चलेगा।

कहते हैं ये पुस्तक (spiritual books in hindi) उन लोगों के लिए बहुत अच्छी है जो जीवन में हमेशा दुखी रहते हैं, गुस्सा करते हैं और हमेशा चिढ़-चिढ़े रहते हैं। इस पुस्तक को पढ़ने के बाद उनका मन शांत रहेगा और वो जीवन और जीवन के मूल्यों को सकारात्मक रूप से देखने लगेंगे।

लेखक – सिस्टर शिवानी

प्रकाशक- मंजुल पब्लिशिंग हाउस

भाषा- हिंदी, अंग्रेजी और बंगाली

 

8) धर्मयोद्धा कल्कि – विष्णु के अवतार

spiritual books in hindi pdf - Dharmayoddha Kalki: Avatar of Vishnu

ये एक काल्पनिक उन्पन्यास है जो पौराणिक कथाओं से प्रेरित है। इस कहानी में तीन मजबूत महिला किरदार है एक है कल्कि की माँ और एक है कल्कि की प्रेमिका लक्ष्मी। कह सकते हैं लक्ष्मी के बिना कल्कि का चरित्र अधुरा है। इसमें एक और महिला किरदार है डोरोथी का जो कल्कि की बहन है। इस कहानी में उनका एक भाई भी है जिसका नाम है अर्जुन।

कल्कि का जन्म शम्बाला गांव में सुमति और विष्णुयथ के घर हुआ। जैसे जैसे समय बीता और उन्होंने अपने आस पास अन्याय और क्रूरता देखी तभी उन्हें ज्ञान हुआ कि उनका जन्म इस युग में पाप का विनाश करने के लिए हुआ है। इस किताब में बताया गया है कि कैसे कल्कि के पिता का अपहरण हो जाता है और वो अर्जुन, लक्ष्मी और अपने मित्र बाला के साथ मिलकर अपने पिता को कैसे बचाते हैं।

इस आध्यात्मिक पुस्तक में अच्छे और बुरे के बीच युद्ध दिखाया गया है। इस पुस्तक के लेखक ने इस पुस्तक में कई कठिन शब्दों का प्रयोग किया और इसमें वर्णित घटनाक्रम भी दिल दहलाने वाले हैं। इसमें लेखक ने कई धार्मिक किरदारों को बाकी पुस्तकों से अलग रूप से वर्णित किया है।

इस धार्मिक पुस्तक (spiritual books in hindi) का कवर पेज बहुत ही चुम्बकीय है। जो भी इस पुस्तक को अपने हाथ में लेता है वो उसके बुक कवर को देखकर इसे पढने के लिए लालायित हो जाता है।

लेखक – केविन मिसाल

प्रकाशक- कलामोस लिटरेरी सर्विसेज LLP

भाषा- अंग्रेजी और हिंदी

 

9) रामचरितमानस (Ramcharitmanas)

best spiritual books in hindi - Ramcharitmanas

रामभक्तों से यदि पुछा जाए कि आपकी पसंद की आध्यात्मिक किताबें (spiritual books in hindi) कौन कौन सी हैं तो उसमें रामचरित मानस का नाम जरुर होगा। इसे अगर हिंदी साहित्य के अनेकों कृतियों में से श्रेष्ठ कहा जाए तो गलत नहीं होगा। कई लोग इसे तुलसी रामायण भी कहते हैं, इस पुस्तक के महानायक हैं श्री राम तथा इसमें तुलसी दास जी ने श्री राम के आदर्शों को अनेक दोहों, छंदों, चौपाइयों के द्वारा दर्शाया है।

तुलसीदास जी ने इस महाग्रन्थ को रामनवमी के दिन लिखना शुरू किया था। कहते हैं इस ग्रंथ को लिखने के लिए उन्हें 2 साल 7 महीने और 26 दिन का समय लगा। वाल्मीकि द्वारा लिखी रामायण और तुलसी दास जी द्वारा लिखी रामचरितमानस दोनों ही श्री राम के बारे में बताते हैं लेकिन दोनों का श्री राम के जीवन को प्रस्तुत करने का तरीका यानी वर्णन शैली अलग है। वाल्मीकि जी ने श्री राम को एक सांसारिक पुरुष के रूप में दिखाया है और तुलसी दास जी ने उन्हें विष्णु अवतार के रूप में बताया है।

उन्होंने अपनी इस पुस्तक (spiritual books in hindi) को 7 खंडो में विभाजित किया है, बालकाण्ड, अयोध्याकाण्ड, अरण्यकाण्ड, किष्किन्धाकाण्ड, सुन्दरकाण्ड, लंकाकाण्ड और उत्तरकाण्ड। अवधि भाषा में श्री राम के बारे में बताते हुए उन्होंने कई अलंकारों का प्रयोग किया है।

लेखक- तुलसीदास जी

प्रकाशक – मनोज पब्लिकेशन एडिटोरियल बोर्ड 

भाषा-  इसे मूल रूप से अवधि में लिखा गया जिसका बाद में हिंदी और अंग्रेजी में अनुवाद किया गया।

 

10) आनंद का सरल मार्ग (Anand ka Saral Marg)

adhyatmik books in hindi - Anand ka Saral Marg

इस पुस्तक में खुश रहने और उसके फायदों के बारे में विस्तार से बताया गया है। इस पुस्तक के अनुसार कुछ भी करने से अगर अच्छा महसूस होता है वो काफी नहीं, बात तो तब है जब आप मन से बहुत खुश हो। विज्ञान ने भी माना जो व्यक्ति हमेशा प्रसन्न रहते हैं वो सफलता पाने के साथ साथ लम्बा और सेहतमंद जीवन भी जीते हैं।

आध्यात्मिक किताबें (spiritual books in hindi) पढने वालों की लिस्ट में इस पुस्तक का विशेष स्थान है। इस पुस्तक में बताया गया है कि जो लोग खुश रहते हैं उनके बहुत सारे दोस्त होते हैं और उनका अपने जीवन साथी के साथ सम्बन्ध भी बहुत मजबूत होता है तथा ऐसे लोग अच्छे माता पिता भी होते है।

मेडिकल साइंस की मानें तो जो लोग हमेशा खुश रहते हैं उनकी इम्युनिटी पॉवर बाकी लोगों से बहुत स्ट्रोंग होती है और साथ ही वो हमेशा दिल से जुडी बीमारियों से बचे रहते है। इतना ही नहीं, ऐसे लोग मानसिक रूप से भी बहुत हेल्दी होते हैं और जब इन पर कोई दुःख आता है वो आसानी से उसे झेल जाते हैं।

लेखक- दलाई लामा और होवर्ड सी

प्रकाशक – मंजुल पब्लिशिंग हाउस प्राइवेट लिमिटेड

भाषा- मूल रूप से इसे अंग्रेजी में लिखा गया जिसका बाद में हिंदी अनुवाद किया गया।

 

यदि आप आध्यात्मिक और भारतीय संस्कृति से संबंधित विषयों में रुचि रखते हैं और ऐसे विषयों पर अधिक ज्ञान चाहते हैं, तो हमारे पास आपके लिए एक बेहतर तरीका है। पावन भारत में निर्मित एक आध्यात्मिक और भारतीय जीवनशैली की ऐप है जो आपको हमारे प्राचीन ज्ञान से एक सुखी और समस्या रहित जीवन जीने में सहयोग देता है। पावन पर वेद, शास्त्र, अध्यात्म और भारतीय संस्कृति की अनेकों ज्ञानवर्धक विडिओ उपलब्ध है जो आपको जीवन मे हर कदम पर मार्गदर्शक का काम करेगा। आज ही पावन ऐप डाउनलोड करें और यह अमूल्य ज्ञान एक जगह पाए।  


आपको इस पोस्ट में 10 बेस्ट आध्यात्मिक किताबें (spiritual books in hindi) कौन कौन सी है, की विस्तार से जानकारी मिली है। उम्मीद है आपको हमारा प्रयास अच्छा लगा होगा। हिन्दू धर्म से जुडी महत्वपूर्ण और रोचक बातों को जानने के लिए पावन एप को जरुर इनस्टॉल करे ताकि आप धर्म से और भी करीब से जुड़ जाए। हमें पूर्ण विश्वास है कि पावन एप से जुडकर आप धर्म को और अच्छे से समझने और जानने लगेंगे।

 

ऐसा और ज्ञान पाना चाहते हैं? यह भी पढ़ें फिर:

75+ Motivation Quotes इन हिंदी सफलता, जीवन और विद्यार्थियों के लिए

60+ प्रेरणादायक सुविचार जीवन में सकारात्मकता और सफलता के लिए

 

ऐसे और जानकारी पाने के लिए हमारे समाचार पत्रिका को सब्सक्राइब करे

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें

Top Posts