Paavan Logo
Surya Namaskar 12 Mantras
Share on whatsapp
Share on facebook
Share on telegram
Share on linkedin
Share on twitter

Surya Namaskar 12 Mantras

दोस्तों आजकल की भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में तनाव इतना बढ़ गया है कि लोग कम उम्र में ही कई बीमारियों का शिकार हो रहे हैं और साथ ही अपनी उम्र से ज्यादा बड़े लगने लगते हैं। ऐसा नही है कि उन्हें नही पता कि उन्हें सेहत बनाने के लिए योग करना चाहिए लेकिन समय के अभाव में समय नही निकल पाते। ऐसे में अगर व्यक्ति मात्र 15 मिनट सूर्य नमस्कार कर ले तो वो अपने आपको स्वस्थ रख सकता है। यदि वो हर बार किए जाने वाले सूर्य नमस्कार के साथ surya namaskar 12 mantras जपे तो उसे ज्यादा फायदा होगा।आप कह सकते हैं कि surya namsakar 12 mantras लाइफ में आपकी बहुत मदद करेंगे।

सूर्य नमस्कार क्या है ? / Surya Namaskar Kya Hai?

सूर्य नमस्कार यानी सूर्य देव को नमन करना। जैसा कि आप सभी जानते हैं कि सूर्य ऊर्जा और शक्ति का बेहतरीन और सबसे बड़ा स्त्रोत है इसी कारण जब भी योग की शुरुवात की जाती है उसकी शुरुवात सूर्य नमस्कार से की जाती है और अगर उसके साथ surya namaskar 12 mantras जपे जाए तो सोने पर सुहागा हो जाएगा।  ये अकेला ऐसा आसान है जो १२ आसनों का फायदा पहुचता है।

Surya Namaskar 12 Mantras

सूर्य नमस्कार 12 मन्त्र / Surya Namaskar 12 Mantras

विशेषज्ञों के अनुसार सूर्यनमस्कार योग को १३ बार करना चाहिए और हर बार अलग अलग मन्त्र बोलना चाहिए यानी surya namaskar 12 mantras और एक समापन मन्त्र। ऐसा माना जाता है योग के साथ इन मंत्रो के उच्चारण से व्यक्ति फिटनेस के साथ साथ सकारात्मक ऊर्जा भी पा लेगा। चलिए जानते हैं surya namaskar 12 mantras कौन कौन से हैं।

  1. ॐ मित्राय नमः
  2. ॐ रवये नमः
  3. ॐ सूर्याय नमः
  4. ॐ भानवे नमः
  5. ॐ खगाय नमः
  6. ॐ पूष्णे नमः
  7. ॐ हिरण्यगर्भाय नमः
  8. ॐ मरीचये नमः
  9. ॐ आदित्याय नमः
  10. ॐ सवित्रे नमः
  11. ॐ अर्काय नमः
  12. ॐ भास्कराय नमः

सूर्य नमस्कार कैसे करते हैं ? / Surya Namaskar Kaise Karte Hain ?

12 आसनों से जुडकर बना यह एक आसन बना है। इसे स्टेप बाय स्टेप कैसे करना है आइये जानते हैं। याद रहे योग के साथ Surya namaskar 12 mantras जरुर बोलते जाए। हर बार एक मन्त्र।

Untitled design 3

  1. सबसे पहला आसान जो किया जाता है वो है प्राणायाम। सीधे खड़े हो जाए और कमर, कन्धा, गर्दन सब सीधे रखे और दोनों पैरो को मिला ले। अब अपने दोनों हाथो को अपने सीने के पास लाकर दोनों हाथो को जोडकर प्रणाम करने की मुद्रा में आए।
  2. अब अपने दोनों हाथो को प्रणाम की मुद्रा मैं ही ऊपर ले जाए और धीरे धीरे पीछे की झुके।
  3. अब साँस को धीरे धीरे छोड़े और आगे की झुखे और अपने हाथो से पैरो की उंगलियों को चूने की कोशिश करे। ध्यान रहे जबरदस्ती छूने की कोशिश न करे, जितना आसानी से आप झुक पाते हैं उतना ही झुके।
  4. अब धीरे धीरे स्वास ले और हथेलियों को जमीन पर सीधा रखे और अपने दाएं पैर को पीछे की ओर ले जाए। आपके बाएँ पैर का घुटना जमीन पर हो। अब धीरे धीरे बायाँ पैर भी पीछे ले जाए और अपने सिर को धीरे धीरे आसमान की तरफ करे।
  5. अब पुशअप की पोजीशन पर आ जाए यानी आपके दोनों हाथ और पैर एक सीधी लाइन में आ जाए।
  6. अब जैसे पुशअप करने वैसे ही अपने सीने, हथेलियों, पैरो और घुटनों को जमीन से छुए। कुछ सेकंड इस पोजीशन में रहे और फिर कुछ सेकंड्स साँस रोके।
  7. आप अपनी हथेलियों को जमीन पर जमाए और पेट को जमीन से ऊपर ले जाए और सिर को आसमान की ओर ले जाए।
  8. अब अपने पैरो के तलवो को जमीन पर सीधा करे और अपने कुलहो को ऊपर की ओर ले जाए। स्वास को छोड़ते हुए अपने कंधो को सीधा करे और अपने सिर अन्दर की दिशा में ले जाए।
  9. अब सिर को वापिस बाहर ले आए और फिर से हाथो और पैरो को सीधे लाइन में लाए।
  10. अब सिर को वापिस बाहर ले आए और फिर से हाथो और पैरो को सीधे लाइन में लाए।
  11. हथेलियों को सीधा जमीन पर रहने दे और सीधे पैर को वापिस आगे लाए, सीधे पैर के तलवा जमीन पर सीधा हो।
  12. अब धीरे धीरे दूसरा पैर भी आगे ले जाए और उसका तलवा भी जमीन पर सीधा हो।
  13. अब सिर को वापिस बाहर ले आए और फिर से हाथो और पैरो को सीधे लाइन में लाए।
  14. अब सिर को वापिस बाहर ले आए और फिर से हाथो और पैरो को सीधे लाइन में लाए।
  15. हथेलियों को सीधा जमीन पर रहने दे और सीधे पैर को वापिस आगे लाए, सीधे पैर के तलवा जमीन पर सीधा हो।
  16. अब धीरे धीरे दूसरा पैर भी आगे ले जाए और उसका तलवा भी जमीन पर सीधा हो।
  17. अब सीधे खड़े हो जाए और फिर से अपने हाथो की हथेलियों को जोड़े और पीछे की झुके।
  18. अब वापिस सीधे हो जाए।
  19. अब फिर से वो ही स्टेप्स दोहराए और अबकी बार पहले बायाँ पैर पीछे जाएगा।

pexels elina fairytale 3822118

 

Surya Namaskar Ke Fayde

Surya namaskar 12 mantras में इतनी शक्ति है कि सिर्फ 10 से 12 बार रोजाना सूर्य नमस्कार और उसके मन्त्र को जपकर  व्यक्ति पूर्णत: तरोताजा और स्वस्थ महसूस करता है। आइये सूर्य नमस्कार और Surya namaskar 12 mantras से होने वाले अमूल्य फायदों के बारे में जानते हैं।

  1. सूर्य नमस्कार योग व्यक्ति को अपना वजन कम करने में काफी मदद करता है।
  2. सूर्य नमस्कार करने से व्यक्ति का पाचन तंत्र सही तरीके से काम करता है और उसको भूख भी खुलके लगती है।
  3. इस योग को करने से व्यक्ति के शरीर में लचीलापन आता है।
  4. जिसे कब्ज की समस्या रहती है उसके लिए सूर्य नमस्कार किसी वरदान से कम नही है।
  5. जो शारीरिक कमजोरी महसूस करता है उसे भी सूर्य नमस्कार बहुत लाभ पहुचाता है।
  6. सूर्य नमस्कार शारीरिक ताकत के साथ साथ मानसिक शक्ति भी देता है।
  7. इसे करने से व्यक्ति का पोश्चर सही बना रहता है।
  8. सूर्य नमस्कार करने से बॉडी टोन होती और हड्डियाँ पहले से ज्यादा मजबूत हो जाती है।
  9. सूर्य नमस्कार नियमित करने कंधे, बाजू, हिप्स, जोड़ आदि सभी फिट रहते हैं।
  10. नियमित रूप से सही तरीके से सूर्य नमस्कार करने से नींद भी अच्छी आती है।
  11. इस योग से शरीर में रक्त प्रवाह सुचारू रूप से बना रहता है।
  12. जिनके पीरियड इर्रेगुलर है उनके लिए भी सूर्यनमस्कार करना य्फदेमंद हो जाता है क्योकि इस योग से हार्मोनल में गड़बड़ी सही हो जाती है।
  13. सूर्य नमस्कार करने से कब्ज दूर होता है जिस वजह से स्किन से जुडी समस्याएँ भी दूर रहती है।
  14. इसको करने से मन की एकाग्रता बढ़ जाती है।
  15. नियमित रूप से सूर्य नमस्कार करने से व्यक्ति कई बीमारियों से बचा रहता है और साथ में बोले गए Surya namaskar 12 mantras आपको और ज्यादा तंदुरुस्त बनने में मदद करेगे।
Surya Namaskar Kab Karna Chahiye

कुछ लोग सोचते हैं सूर्य नमस्कार सिर्फ सुबह ही कर सकते हैं और सुबह उनके पास ज्यादा समय न होने के कारण वो कर नही पाते।

ऐसा नही है। सूर्य नमस्कार आप सुबह और शाम दोनों वक्त कर सकते हैं। कई योग सेंटर्स पर लोगो के पास समय कम होने के कारण शाम को ही योग कराया जाता है।

हालाँकि सुबह शुद्ध हवा में जब वातावरण में फ्रेश ऑक्सीजन होता है तब सूर्य की किरणों के सामने सूर्य नमस्कार करने से व्यक्ति में सकारात्मक ऊर्जा पैदा होती है और ये ऊर्जा सेहत के लिए बहुत अच्छी मानी जाती है। सूर्य नमस्कार और Surya namaskar 12 mantras से होने वाले फायदे आपको इस आसन को करने के लिए प्रेरित जरुर करेंगे।

ये भी पढ़े :Brahma muhurta benefits in hindi

बस समय सुबह का हो या शाम का बस सही तरीके से करे।यदि आपने अभी अभी सूर्य नमस्कार योग करना शुरू किया है तो आपको शाम का ही वक्त चुनना चाहिए क्योकि इस वक्त आपकी बॉडी गरम और रिलैक्स होती है जबकि सुबह के समय व्यक्ति की बॉडी अकड़ी हुई होती है। हो सकता है शुरू में इसे करने में आपको मुश्किल आए और आप चार या पांच बार ही कर पाए लेकिन सूर्य नमस्कार करना न छोड़े, आप धीरे धीरे इसकी संख्या बड़ा सकते हैं। जब आप अच्छे से सूर्य नमस्कार करना सीख जाए और साथ ही Surya namaskar 12 mantras भी बोलना सीख जाए तब हो सके तो थोडा सा समय निकालकर ये योग जरुर करे।

जीवन के लिए वरदान सूर्यनमस्कार करने का तरीका और surya namskar 12 mantras आप सभी को पता होने चाहिए, इसी कारण आपके लिए हम आपके लिए पूर्ण जानकारी लेके आए हैं।

 

ऐसे और जानकारी पाने के लिए हमारे समाचार पत्रिका को सब्सक्राइब करे

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें

Top Posts