हर परेशानी दूर करेंगे
 ये गायत्री मंत्र 

पावन 

5 गायत्री मंत्र हिंदी में 

पावन 

1.पहला मंत्र 

पावन 

।। ॐ एक दृष्टाय विद्महे वक्रतुण्डाय धीमहि। तन्नो बुद्धिः प्रचोदयात् ।।
गणेश गायत्री:- यह मंत्र समस्त प्रकार के विघ्नों का निवारण करने में सक्षम है ।

2.दूसरा  मंत्र 

पावन 

।। ॐ उग्रनृसिंहाय विद्महे वज्रनखाय धीमहि। तन्नो नृसिंह: प्रचोदयात् ।।
नृसिंह गायत्री:- इस मंत्र से पुरषार्थ एवं पराक्रम की बृद्धि होती है ।

3.तीसरा मंत्र 

पावन 

।। ॐ नारायण विद्महे वासुदेवाय धीमहि। तन्नो विष्णु: प्रचोदयात् ।।
 विष्णु गायत्री:- यह मंत्र पारिवारिक कलह को समाप्त करता है ।

4.चौथा  मंत्र 

पावन 

।। ॐ पंचवक्त्राय विद्महे महादेवाय धीमहि। तन्नो रुद्र: प्रचोदयात् ।।
शिव गायत्री:- यह मंत्र सभी प्रकार का कल्याण करने में अद्भूत कार्य कर्ता है ।

5.पांचवा मंत्र 

पावन 

।। ॐ देवकीनन्दनाय विद्महे वासुदेवाय धीमहि। तन्नो कृष्ण: प्रचोदयात् ।।
कृष्ण गायत्री:- यह मंत्र कर्म क्षेत्र की सफलता हेतु बड़ा ही लाभकारी है ।

पावन 

 पूरी जानकारी के
 लिए निचे दिए लिंक
 पे क्लिक कीजिये