जान ले योगासन के 
बारे में 

पावन 

9 योगासन के प्रकार

पावन 

1.वृक्षासन

पावन 

वृक्षासन खड़े होकर किया जाता है। इस आसन में दाहिने पैर को बांए पैर की जांघ पर रखते है। हाथों को ऊपर करके पार्थना की मुद्रा कर लेते है।

2.भुजंगासन

पावन 

इस आसन को पेट के बल लेटकर करते है। हथेलियों को जमीन पर टिकाकर आसमान की और देखते है। गैस और एसिडिटी की समस्या में यह आसन लाभकारी है।

3.दंडासन

पावन 

इस आसन को बैठकर किया जाता है। धड़ को सीधा और पैरों को फैलाकर बैठते है। इस आसन से पैर और हाथ मजबूत होते है।

4.उष्ट्रासन

पावन 

इस योग में ऊंट की मुद्रा बनानी होती है। घुटने पर बैठकर हाथों को पैर की उंगलियों पर स्पर्श करते है। इससे पाचन शक्ति बढ़ती है।

5.कोणासन 

पावन 

कोणासन विधि को खड़े होकर करते है। इससे हाथ और पैर मजबूत होते है।

6.सेतु बंध आसन

पावन 

यह बहुत आसान योग क्रिया है। इसमें सबसे पहले समतल पर पीट के बल लेट जाते है। फिर धीरे धीरे पीट को ऊपर उठाते है। हाथों से पैर को पकड़ लेते है। रीड की हड्डी लचीली और मजबूर होती है।

7.हलासन

पावन 

यह थोड़ा मुश्किल आसन है। शुरुआत में इसे करना कठीन होता है। इस आसन में शरीर को हल की मुद्रा देनी होती है। इससे शरीर में लचीलापन आता है।

8.धनुरासन

पावन 

इस योग क्रीड़ा में शरीर की आकृति धनुष के समान होती है। शरीर में लचीलापन और पाचन शक्ति बढ़ती है।

9.कपालभाती

पावन 

ध्यान की मुद्रा में बैठकर सांस को अंदर बाहर करने की क्रिया कपालभाति कहलाती है। इस क्रिया में पेट को अंदर की और खींचते है। इस आसन को करने से पाचन तंत्र मजबूत होता है।

पावन 

 पूरी जानकारी के
 लिए निचे दिए लिंक
 पे क्लिक कीजिये